Essay Writing, Letter Writing, Notice Writing, Report Writing, Speech, Interview Questions and answers, government exam, school speeches, 10 lines essay, 10 lines speech

Recent

Search Box

Sunday, August 16, 2020

शिक्षक दिवस पर शानदार भाषण | Speech on Teacher's Day In Hindi

Hello दोस्तों इसमें हम लिखने वाले है शिक्षक दिवस पर शानदार भाषण | Speech on Techer's Day In Hindi.

भाषण : शिक्षक दिवस

माननीय मुख्य अतिथि, सम्मानित शिक्षकों और मेरे सभी प्रिय मित्रों को मेरा नमस्कार। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम यहाँ शिक्षक दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं। मैं अपनी कक्षा के शिक्षक को धन्यवाद देना चाहूँगा कि उन्होंने मुझे शिक्षक दिवस पर भाषण देने का इतना बड़ा अवसर प्रदान किया। आज मैं आपको अपने जीवन में शिक्षक के महत्व पर एक छोटा सा भाषण देने जा रहा हूँ।आज 5 सितंबर है और इस दिन हम हर साल बहुत खुशी और उत्साह के साथ शिक्षक दिवस मनाते हैं। 5 सितंबर को हर साल पूरे भारत में इस दिन को “शिक्षक दिवस” के रूप में मनाया जाता है। 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाने के पीछे एक बड़ा कारण है। दरअसल, 5 सितंबर को डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी का जन्मदिन है, जो भारत के एक महान विद्वान, शिक्षक और भारत के दुसरे राष्ट्रपति थे।
Speech on Techer's Day In Hindi, Speech on Techer's Day, Hindi Speech on Techer's Day, Speech on Techers Day In Hindi
Clssroom
उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान दिया है। उन्होंने अपने जीवन के 40 वर्ष शिक्षक के रूप में अपने दायित्वों को पूरा करने में बिताया। इस दिन, सभी स्कूलों और कॉलेजों में डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी को श्रद्धांजलि दी जाती है। शिक्षा के प्रति उनके समर्पण और शिक्षकों के प्रति सम्मान को देखकर, उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

“शिक्षक दिवस” शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। यह सही कहा गया है कि शिक्षक हमारे समाज की रीढ़ हैं। शिक्षक छात्रों का चरित्र का निर्माण करते हैं। शिक्षक सही मार्गदर्शन के साथ हमारे भविष्य को उज्ज्वल बनाते हैं। वे हमारी प्रेरणा के स्रोत हैं, जो हमें आगे बढ़ने और सफलता प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते हैं। शिक्षक अपना पूरा जीवन अपने छात्रों को एक महान व्यक्ति बनाने में बिताते हैं। इसलिए, हमें कभी भी उन्हें भूलना और अनदेखा नहीं करना चाहिए। हमें हमेशा उनका सम्मान करना चाहिए।

शिक्षक अपने बच्चों की तरह ही छात्रों को बहुत सावधानी और ईमानदारी से पढ़ाते हैं। एक कहावत है कि एक शिक्षक माता-पिता से भी बड़े होते हैं। माता-पिता एक बच्चे को जन्म देते हैं जबकि शिक्षक उस बच्चे के व्यक्तित्व को निखारते हैं और एक उज्ज्वल भविष्य प्रदान करते हैं। एक छात्र होने के नाते, मैं अपने जीवन में अपने सभी शिक्षकों का सदा आभारी रहूँगा।

धन्यवाद!

YouTube : Silent Course
Facebook : Silent Course

No comments:

Post a Comment