SILENT COURSE

Essay Writing, Letter Writing, Notice Writing, Report Writing, Speech, Interview Questions and answers, government exam, school speeches, 10 lines essay, 10 lines speech

Recent

Search Box

Thursday, November 24, 2022

24 November

एक शिक्षक पर निबंध - Essay on Teacher In Hindi For Students

Hello everyone we will learn that how to write Essay on Teacher In Hindi or Teacher Essay In Hindi. एक शिक्षक पर निबंध कैसे लिखें

निबंध – शिक्षक

प्रस्तावना/परिचय: एक शिक्षक ज्ञान और स्मृद्धि का बड़ा स्त्रोत होता है। उनका उद्देश्य केवल अपने विद्यार्थियों को जीवन में सफल बनाना होता है, इसलिए सभी शिक्षक का सम्मान करतें है।

Picture: Teacher
शिक्षक का कार्य: शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, क्योंकि उनके शिक्षक के पास ज्ञान का भंडार होता है। शिक्षक अपने विद्यार्थियों को ज्ञान, कौशल और सकारात्मक व्यवहार से सज्जित करते हैं। वह अपने विद्यार्थियों को समय का सदुपयोग और समय की पाबंदी का महत्व समझाते हैं।

शिक्षक का महत्व: शिक्षक का विद्यार्थी के जीवन में एक महत्वपूर्ण स्थान होता है। शिक्षक अपने विद्यार्थियों को उनका सही रास्ता चुनने में हमेशा मदद करते हैं। एक शिक्षक ही होता है, जो अपने विद्यार्थी को हमेशा बड़ों का आदर और सम्मान करना सिखाता है। शिक्षक अपनें विद्यार्थियों को सभी धर्मों का सम्मान करना भी सिखाते हैं।

निष्कर्ष: एक अच्छा शिक्षक विद्यार्थियों के जीवन में एक अच्छा/गहरा प्रभाव छोड़ता है, क्योंकि वे अपने विद्यार्थियों को जीवन में शिक्षा का महत्व समझाते हैं। इसलिए शिक्षकों को सम्मान देने लिए विद्यार्थीयों द्वारा हर साल 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course





24 November

Essay on Teacher In English For Students

Hello everyone we will learn that how to write Essay on Teacher In English or Teacher Essay In English

The Teacher (150 Words)

Introduction: A teacher is a great source of knowledge and prosperity. The only aim of the teacher is to make his students successful in life, that's why everyone respects the teacher.
Picture: Teacher

Teacher's work: Teachers play an important role in the field of education, because they have the storehouse/wealth of knowledge. Teachers equip their students with knowledge, skills and positive attitude. He explains to his students the importance of proper use of time and punctuality.

Importance of Teacher: Teacher has an important place in the life of the students. Teachers always help their students to choose the right path. There is only a teacher, who always teaches his students to respect and honor the elders. Teachers also teach their students to respect all religions.

Conclusion: A good teacher leaves a good impact in the life of the students, because they make their students understand the importance of education in life. Therefore, every year on 5th September, Teachers' Day is celebrated by the students to pay respect to the teachers.
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course
24 November

निबंध - पालतू जानवर या पालतू पशु - Essay on Domestic Animals In Hindi

Hello everyone we will learn that how to write Essay on Domestic Animals In Hindi (पालतू जानवर या पालतू पशु पर निबंध कैसे लिखें

पालतू जानवर/पालतू पशु (200 शब्द)

प्रस्तावना/परिचय: जिन पशुओं को मनुष्य पालता है, उसे पालतू जानवर या पालतू पशु कहा जाता है। पालतू जानवर मानवों के लिए बहूत उपयोगी होते हैं।
Picture: Domestic Animal (पालतू जानवर)

पालतू जानवरों/पशुओं के नाम: गाय, बैल, भैंस, बकरी, घोड़ा, ऊँट, गधा, भेड़, कुत्ता, बिल्ली आदि प्रमुख पालतू जानवर या पालतू पशु के नाम हैं।

पालतू जानवर/पशु के फायदे: पालतू जानवर/पशु पालनें से मनुष्य को कई तरह के फायेदे होते हैं। जैसे: गाय, भैसा, बकरी से हमें दूध प्राप्त होता है और इनके दूध से कई तरह के मिठाइयाँ बनाई जाती है। बैल, भैस, घोड़ा, ऊँट और गधा सवारी करनें और माल ढोनें के काम आता है। कुत्ता घर की रखवाली करता है। गाय, बैल और भैस खेती करनें में मदद करते हैं। पालतू पशुओं को उनके मांस के लिए भी पाला जाता है। कई तरह के अन्य पालतू जानवर लाभ के लिए पाले जाते हैं।

पालतू जानवर/पशु का महत्व: पालतू पशुओं का हमारे जीवन में बहूत अधिक महत्व है। मानव आदि काल से पालतू पशुओं को पालता आ रहा है, क्योंकि पालतू जानवर से मनुष्य को कई प्रकार का लाभ प्राप्त होता है। पालतू पशु हमारे लिए बहूत श्रम करते हैं और यह अपने स्वामी के लिए बहुत समर्पित होते हैं।

निष्कर्ष: पालतू जानवर/पशु हमारे जीवन का एक अहम् हिस्सा है। पालतू जानवर/पशु मनुष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण और उपयोगी होते हैं। पालतू पशुओं से लाभ लेने के लिए दुनिया के सभी देशों में अलग- अलग प्रकार के पालतू जानवरों/पशुओं को पाला जाता है
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course

Wednesday, November 23, 2022

23 November

Essay on Domestic Animal In English | Domestic Animal Essay - 200 Words

Hello, my friends we will learn that how to write Essay on Domestic Animal In English Language or Domestic Animal Essay

Domestic Animal (200 Words)

Introduction: The animals that are kept by humans are called domestic/domesticated animals. Domestic animals are very useful to humans.
Essay on Domestic Animal In English, Essay on Domestic Animal, Domestic Animals Essay, Domestic Animals Essay In English,
Picture: Domestic Animals
Names of Domestic Animals: Cow, bull, buffalo, goat, horse, camel, donkey, sheep, dog, cat etc. are the names of major domestic animals.

Benefits of Domestic Animal: There are many benefits to humans by keeping Domestic animals. For example: We get milk from cow, female buffalo, goat and many types of sweets are made from their milk. Bulls, buffaloes, horses, camels and donkeys are used for riding and carrying goods. Cows, bulls and buffaloes help in farming. The dog guards the house. Domestic animals are also reared for their meat. Many other types of domesticated animals are raised for profit.

Importance of Domestic Animal: Domestic animals have a lot of importance in our lives. Humans have been keeping some animals since time immemorial, because humans get many benefits from domesticated animals. Domestic animals do a lot of work for us and they are very devoted to their owners.

Conclusion: Domestic animals are an important part of our life. Animals are very important and useful to humans. Different types of domesticated animals are bred in all the countries of the world to take advantage of domesticated animals.
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course

Tuesday, November 22, 2022

22 November

निबंध - लाचित बरफूकन - Essay on Lachit Borphukan In Hindi - 350 Words

Hello my friends we will learn that how to write Essay on Lachit Borphukan In Hindi (350 Words)

निबंध - लाचित बोरफूकन

परिचय: लाचित बोरफूकन को महान योद्धाओं में से एक गिना/माना जाता है। वह महत्वाकांक्षी कूटनीतिज्ञ और राजनेता भी थे। वे आहोम साम्राज्य के एक सेनापति और बोरफूकन थे, जिन्होनें अपनी देशभक्ति से आहोम साम्राज्य को गौरवान्वित किया था। वे सराईघाट की लड़ाई में अपनी नेतृत्व-क्षमता के लिए जाने जाते हैं।
Picture: Lachit Borphukan
जन्म-स्थान एवं माता पिता: लाचित बोरफूकन का जन्म 24 नवम्बर 1622 को चराइडो, असम में अहोम साम्राज्य हुआ था। उनके पिता का नाम मोमाई तमुली बोरबरुआ था। उनके पिता राजा प्रताप सिंह के प्रशासन में वरिष्ठ अधिकारी या कमांडर-इन-चीफ थे। उनकी माता का नाम कुन्दी मरान था। लाचित बोरफूकन अपने माता-पिता के सबसे छोटे बेटे थे। उनका धर्म फुरेलुंग अहोम था।

शिक्षा: लाचित बोरफूकन ने मानविकी, शास्त्र और सैन्य कौशल की शिक्षा भी ग्रहण की थी।

कौशल: लाचित बोरफूकन एक अच्छे कूटनीतिज्ञ और राजनेता थे। वह अस्त्र-शस्त्र चलाने और घुड़सवारी में पूरी तरह से निपुण थे।

नियुक्ति व् पद: मानविकी और सैन्य रणनीतियों में शिक्षा ग्रहण करने के बाद, उन्हें अहोम स्वर्गदेव के ध्वज वाहक का पद और निज-सहायक का पद सौंपा गया था। पद मिलने से पहले वे अहोम राजा चक्रध्वज सिंह की शाही घुड़साल के अधीक्षक, रणनैतिक रूप से सिमुलगढ़ किले के प्रमुख और शाही घुड़सवार रक्षक दल के अधीक्षक के पदों पर भी आसीन रहे थे।

मुगलों से संघर्ष एवं युद्ध: लाचित बोरफूकन का पूरा जीवन मुगलों से संघर्ष करते हुए बिता था। उन्होंने मुगलों के खिलाफ जमकर लड़ाई लड़ी और कई युद्ध मुगलों के खिलाफ भी जीते ।

सराईघाट की लड़ाई: लाचित बोरफुकन को मुगलों के खिलाफ अभियान में सेना का नेतृत्व करने के लिए चुना गया था। सन 1671 में हुई सराईघाट की लड़ाई/युद्ध में मुगलों ने सराईघाट में नदी से आक्रमण किया। दोनों में भीषण युद्ध हुआ, लेकिन लाचित बोरफुकन के अच्छे नेतृत्व-क्षमता के कारण वह सराईघाट की लड़ाई में विजयी हुए और मुग़लों के कब्ज़े से गुवाहाटी पुनः प्राप्त करने में भी सफल रहे।

निधन: सराईघाट की विजय के लगभग एक वर्ष बाद 25 अप्रैल 1672 को बीमारी के कारण लाचित बोरफुकन मृत्यु हो गई। उनकी वीरता और सरायघाट की लड़ाई में असमिया सेना की जीत की याद में पूरे असम राज्य में हर साल 24 नवंबर को लाचित दिवस मनाया जाता है।
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course
22 November

Essay on Lachit Borphukan In English - Introduction - Birth - Battle of Saraighat - Death

Hello my friends we will learn that how to write Essay on Lachit Borphukan In English Language.

Lachit Borphukan (300 Words)

Introduction: Lachit Borphukan is counted/considered as one of the great warriors or leader. He was an ambitious diplomat. He was a general and borphukan of the Ahom kingdom, who made the Ahom kingdom proud by his patriotism. He is known for his leadership in the Battle of Saraighat.
Essay on Lachit Borphukan, Essay on Lachit Borphukan In English, Lachit Borphukan Essay, Lachit Borphukan Essay In English, Lachit Borphukan, biography of Lachit Borphukan, biography of Lachit Borphukan in english
 Picture: Lachit Borphukan
Place of Birth and Parents: Lachit Borphukan was born on 24 November 1622 at Charaideo, Assam. His father's name was Momai Tamuli Borbarua. His father was a senior officer or commander-in-chief in the administration of Raja Pratap Singh. His mother's name was Kunti Moran. Lachit Borphukan was the youngest son of his parents. Their religion was Furelung Ahom.

Education: Lachit Borphukan was also educated in humanities and military skills.

Skills: Lachit Borphukan was a good diplomat and leader. He was completely adept at using weapons and horse riding.

Appointment and Designation: After being educated in the humanities and military strategies, he was assigned the post of flag bearer of Ahom Swargadeo. Prior to joining the post, he also held the positions of Superintendent of the Royal Horse Guards of Ahom King Chakradhwaj Singh and Strategic Incharge of Simulgarh Fort.

Struggle and war with the Mughals: Lachit Borphukan's whole life was spent fighting with the Mughals. He fought fiercely against the Mughals and won many battles against the Mughals.

Battle of Saraighat: Lachit Borphukan was chosen to lead the army in the campaign against the Mughals. In the Battle of Saraighat in 1671, the Mughals attacked from the river in Saraighat. There was a fierce battle between the two, but due to the good leadership of Lachit, he was victorious in the battle of Saraighat and he was also successful in recapturing Guwahati from the Mughals.

Death: Lachit Borphukan died due to illness on 25th April 1672, almost a year after the conquest of Saraighat. Lachit Diwas is celebrated all over Assam every year on 24 November to commemorate his valor in the Battle of Saraighat and the victory of the Assamese army.
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course

Sunday, November 20, 2022

20 November

नर्स पर महत्वपूर्ण निबंध - Essay on Nurse In Hindi

Hello everyone we will learn that how to write Essay on Nurse In Hindi (नर्स पर महत्वपूर्ण निबंध)

निबंध: नर्स (200 शब्द)

प्रस्तावना/परिचय: नर्स स्वास्थ्य विभाग की बहुत ही महत्वपूर्ण कर्मचारी होती है। नर्स का काम मरीजों की सेवा और देखभाल करना होता है।
Picture: Nurse
पोशाक/वर्दी: एक नर्स की पोशाक व् वर्दी का रंग नीला होता है। यह रंग स्थिरता का प्रतीक भी है। नर्स अपने गले में स्टेथोस्कोप भी रखती है।

नर्स का कार्य: नर्स मरीजों की सेवा के लिए होती है। वह मरीजों की बहूत अच्छे से देखभाल करती है। नर्स मरीज को डॉक्टर द्वारा बताये गए समय पर इंजेक्शन और दवा देती है। एक डॉक्टर द्वारा बताये गए सभी निर्देशों को नर्स पालन करती है।

नर्स का महत्व: अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों की सेवा में नर्सों की अहम भूमिका होती है। वह मरीजों की सेवा के साथ-साथ अपने अच्छे व्यवहार से भी रोगी को जल्द से जल्द ठीक करने का प्रयास करती है। मरीज की सेवा और देखभाल करनें के लिए एक नर्स का होना बहूत ही आवश्यक है।

निष्कर्ष: नर्स का काम बहुत ही जिम्मेदारी वाला होता है। नर्स को अस्पताल के एक-एक मरीज का अच्छे ख्याल व् ध्यान रखना होता है ताकि मरीज जल्द से जल्द स्वस्थ हो सके। कोई भी अस्पताल नर्स के बिना चल नहीं सकता है। इसलिए नर्स के महत्व को समझते हुए हर साल 12 मई को अंतरराष्ट्रीय नर्स डे मनाया जाता है।
Facebook: Silent Course
YouTube: Silent Course